चाँद बावड़ी- एक स्वर्णिम अतीत जिस पर इतिहास लगभग मौन हैं

प्राचीन भारत के इतिहास के प्रतीकों के प्रति मेरा खास लगाव रहा है। एक ऐसा ही प्रतीक राजस्थान के जिले दौसा में स्थित आभानेरी गांव की विश्व की विशालतम स्टेपवैल चाँद बावड़ी है (Step-Well: राजस्थानी भाषा में जिसे बावड़ी कहते हैं)। आज हम चाँद बावड़ी का यात्रा करते हैं। अनेक सवालों के साथ, जयपुर से… Continue reading चाँद बावड़ी- एक स्वर्णिम अतीत जिस पर इतिहास लगभग मौन हैं

मंगलसर बांध – सरिस्का टाइगर रिज़र्व

किसी पूर्व योजना के बिना हम जयपुर से अलवर जिले में स्थित टहला के निकट नीलकंठ महादेव के प्राचीन मंदिरों के तलाश में आए हैं। भानगढ़-टहला मार्ग पर टहला से 2 किलोमीटर पहले, बाएं तरफ नीलकंठ की और एक सड़क जाती हैं। इस संकरी सड़क पर चढ़ते ही, एक तरफ हरे भरे सरसों-गेहूं-चने के खेतों… Continue reading मंगलसर बांध – सरिस्का टाइगर रिज़र्व

चंदलाई झील – एक नगरीय उम्मीद

जयपुर अर्बन- रूरल फ्रिंज पर खूबसूरत झील चन्दलाई हैं. शिवदासपुरा के निकट टोंक रोड से उतरकर दाएँ तरफ 1-2 किमी चलते ही झील नजर आने लगती हैं। झील के समीप पहुँचते ही तापमान में गिरावट सर्दी के एहसास को बड़ा देता हैं। सर्दियों की धुन्ध में झील के लेक आइलैंड से आगे क्षितिज खो जाता… Continue reading चंदलाई झील – एक नगरीय उम्मीद