सिजु गुफा, मेघालय

साउथ गारो हिल जिला, मेघालय  08 मार्च, 2018 सिजु गुफा जिसे स्थानीय लोग 'डोबाखोल ' के नाम से जानते हैं, राष्ट्रीय राजमार्ग 217 से 5 कि॰मी॰ दूर, अपर सिजु और लोअर सिजु गाँव  के बीच, सोमेश्वरी नदी के तट पर स्थित है। डोबाखोल का गारो भाषा में अर्थ है- चमगादड़ों की गुफा। मुख्य मार्ग (एन॰एच॰ 217)… Continue reading सिजु गुफा, मेघालय

शिलांग से तुरा की यात्रा

        मैं गुवाहाटी से शिलांग 04 मार्च, 2018 को पंहुचा था। वहां से अगले दिन मावफलांग पहुँचा। मावफलांग से मधुर यादों के साथ 06 मार्च, 2018 की दोपहर में नोकरेक नेशनल पार्क के लिए रवाना हो गया। मावफलांग से चार किलोमीटर चलने पर मावंलाप गाँव आता है, यही से शिलांग से नोंगस्टोइन को जोड़ने वाला  NH-106 मिलता है।… Continue reading शिलांग से तुरा की यात्रा

चौंसठ योगिनी मंदिर, मुरैना और संसद भवन

बचपन से आपने चम्बल के डकैतों के क़िस्से-कहानियां ज़रूर सुने होंगे। चम्बल नदी ने दुर्गम बीहड़ों का निर्माण किया, और इसी दुर्गमता ने डकैतों को पनपने के लिये उपजाऊ ज़मीन दी। लेकिन 1990 के दशक के अंत तक हालात बदल गए। एक तरफ सड़कों का जाल बिछाया गया, दूसरी तरफ कानून व्यवस्था में किये सुधारों… Continue reading चौंसठ योगिनी मंदिर, मुरैना और संसद भवन

मावफलांग गाँव: डेविड स्कॉट ट्रेक, डैम व्यू

पूर्वोतर भारत की मेरी इस सोलो-बाइक ट्रिप का पहला पड़ाव मावफलांग गाँव हैं। मावफलांग, मेघालय का एक प्रसिद्ध और खूबसूरत गाँव हैं।यह गाँव मावफलांग सेक्रेड ग्रोव (पवित्र वन), डेविड स्कॉट ट्रेक, खासी हेरिटेज विलेज और मावफलांग डैम के लिए प्रसिद्ध हैं। राजधानी शिलांग से घुमावदार रास्तों एवं नयनाभिराम नजारों से होते हुए, प्राइवेट शेयर्ड टैक्सी… Continue reading मावफलांग गाँव: डेविड स्कॉट ट्रेक, डैम व्यू

मावफलांग पवित्र वन: खासी विरासत

मेघालय राज्य की राजधानी शिलांग से 28 किलोमीटर का सफ़र तय करने के बाद मावफलांग गाँव आता हैं। ईस्ट खासी हिल्स जिले में पड़ने वाला यह गाँव, जयंतिया और खासी पहाड़ियों के बीच पड़ता हैं। यह खासी आदिवासी समुदाय द्वारा 800 सालों से अधिक समय तक सहेज कर रखे गए पवित्र वन के लिए विश्व… Continue reading मावफलांग पवित्र वन: खासी विरासत